Teacher's day क्या है और क्यो मनाया जाता है?

शिक्षक का हमारे जीवन में बहुत बड़ा महत्व है। कहते हैं, (Teacher's) शिक्षक के बिना ज्ञान नहीं। हमारी पहली शिक्षक हमारी  Maa (मां) होती है। वैसे देखा जाए तो हम जिंदगी में हर कदम में सिखते है। शिक्षक कोई एक इंसान नहीं होता, बल्कि जिंदगी में हमें जिस से भी सीखने को मिलता है, वह हमारा शिक्षक होता है। एक छोटी सी घटना में हमें बहुत कुछ सिखा देती है, सही मायने में शिक्षक को define करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। वह इंसान गुरु है जो हमें जिंदगी को जीना सिखा दे। हमें हमारी खूबियों का एहसास दिला दे। हमें आईना दिखा दे, कमियों को भी ऐसे बता दें, कि खुद ब खुद उन्हें सुधारने का दिल करें। हमें हर हाल में मुस्कुराना सिखा दे।

Happy teachers day, teacher's day, teacher,  sikhchak diwas, शिक्षक दिवस,  happy teachers day, teachers day kya hai, teacher's day kab manaya jata hai, teacher's day kab manaya jata h

गुरु वही जो जीना सिखा दे आपकी आपसे पहचान करा दें।               तराश दे हीरे की तरह तुमको दुनिया के रास्तों पर चलना सिखा दे।               कर दे कायाकल्प वो तुम्हारा सच और झूठ से साकार करा दे।               हमेशा दिखाएं सच्चा मार्ग वो तुम्हें तुम्हें एक अच्छा इंसान बना दे।                मुश्किलों से लड़ कर आगे बढ़ जाओ तुम तुम्हें वो इतना समझदार बना दे।                बताएं वो तुम्हें जीत जाना ही सब कुछ नहीं हारकर जीत जाने का हुनर सिखा दे।                गुरू वहीं जो जीना सिखा दे।  आपकी आपसे पहचान कर दे।


Teacher's day क्या है? 


इस दिन शिक्षकों का स्पेशल डे होता है। भारत में शिक्षक दिवस की शुरुआत  5 सितंबर1962 से हुई। 5 सितंबर को पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती आयोजित होती है। इन्हीं के याद में प्रत्येक वर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। एक बार राधाकृषनं के कुछ स्टूडेंट ने मिलकर जन्मदिन मनाने का सोचा। लेकिन जब वे उनसे अनुमति लेने पहुंचे तो उन्होंने कहा " मेरा जन्मदिन मनाने के बजाए अगर मेरा जन्मदिन टीचर्स डे के रूप में मनाया जाए तो मुझे गर्व होगा "। इसके बाद से ही 5 सितंबर के दिन शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

कौन है डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन


डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत देश के पहले उप-राष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे साथ ही साथ एक शिक्षक भी थे। उनका जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरूतनी गांव में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था।40 वर्ष तक उन्होंने शिक्षक के रूप में कार्य किया था।उनका कहना था कि जहां कहीं से भी कुछ सीखने को मिले उसे अपने जीवन में उतार लेना चाहिए। वर्ष 1952 में उन्हें देश का पहला उपराष्ट्रपति बनाया गया। सन 1954 में देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान,भारत रत्न से सम्मानित किया गया। इसके बाद 1962 में उन्हें देश दूसरा राष्ट्रपति चुना गया।

अच्छा शिक्षक वह है जो जीवन भर पर्यन्त विद्यार्थी बना रहता है।और इस प्रक्रिया में वह केवल किताबों से ही नहीं  अपितु विद्यार्थीयों से भी सीखता है।              -डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Teacher's day कैसे मनाया जाता है??


Teacher's Day स्कूल और कॉलेज में बहुत अच्छे से मनाया जाता है। इस दिन स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती उत्सव कार्यक्रम इत्यादि होते हैं। छात्र,शिक्षक के इस खास दिन को सेलिब्रेट करने में पीछे नहीं रहते। कई स्कूल और कॉलेजों में तो दो-तीन दिन पहले से तैयारियां शुरू हो जाती है। छात्र टीचर को खुश करने के लिए नए-नए तरीके अपनाते हैं। इसके अलावा बहुत सारे  स्कूलों में नाटक का आयोजन होता है, जिसमें छात्र, शिक्षक की भूमिका निभाते हैं और उनके good quality के बारे में बताते हैं। इस दिन स्टूडेंट अपने टीचर्स को कोई अच्छा सा गिफ्ट देते हैं। शिक्षकों को मान सम्मान देकर का प्रोत्साहन बढ़ाया जाता है। शिक्षा का असली ज्ञान सिर्फ एक शिक्षक ही दे सकता है। शिक्षक सिर्फ वह नहीं जो हमें पढ़ना लिखना सिखाएं, शिक्षक वह भी है जिससे आपने कुछ अच्छा और नया सीखा हो।  

Teachers Day कब मनाया जाता है?


भारत में शिक्षक दिवस 5 September को मनाया जाता है। परंतु पूरे विश्व में हर साल 5 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाया जाता है। 5 अक्टूबर, 1966 को पैरिस में अंतरसरकारी सम्मेलन का आयोजन हुआ था जिसमें 'टीचिंग इन फ्रीडम' संधि पर हस्ताक्षर किया गया था।

हर साल 5 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाया जाता है। 5 अक्टूबर, 1966 को पैरिस में अंतरसरकारी सम्मेलन का आयोजन हुआ था जिसमें 'टीचिंग इन फ्रीडम' संधि पर हस्ताक्षर किया गया था। दरअसल इस संधि में शिक्षकों के अधिकार एवं जिम्मेदारी, भर्ती, रोजगार, सीखने और सिखाने के माहौल से संबंधित सिफारिशें की गई थीं। इसी दिन 1997 में आयोजित एक सम्मेलन में उच्चतर शिक्षा से जुड़े शिक्षकों की स्थिति को लेकर की गई यूनेस्को की अनुशंसाओं को अंगीकृत किया गया था। पढ़ाई के पेशे को प्रोत्साहित करने के लिए यूनेस्को द्वारा हर साल इस दिन को मनाया जाता है। वैसे अलग-अलग देशों में अलग तारीखों को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

वहीं हमारे देश में 5 सितंबर शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह खास दिन राष्ट्र निर्माण में टीचर्स के योगदान के लिए उनके सम्मान में सेलिब्रेट किया जाता है। हर कोई अपने-अपने तरीके अपनी जिंदगी में शिक्षकों के योगदान के लिए उन्हें आभार जताता है। हमारे देश में 1962 से 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है। शिक्षक दिवस पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती के मौके पर मनाया जाता है।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के पहले उप-राष्ट्रपति, दूसरे राष्ट्रपति, महान दार्शनिक, बेहतरीन शिक्षक, स्कॉलर और राजनेता थे। राधाकृष्णन एक बेहतरीन शिक्षाविद थे और राष्ट्रनिर्माण के लिए युवाओं को तैयार करने के लिए समर्पित थे।

मुझे उम्मीद है कि आपको ये article पसन्द आया होगा।आपको ये article कैसा लगा ये हमे comments ke माध्यम से जरूर बताए। ताकि हम ऐसी ही जानकारी आप तक पहुंचा सके।

Written By Sakshi Jaiswal 
SHARE NOW
   

Post a Comment

1 Comments

Happy Dussehra Special 2020